Home भाषण Speech on clean start in hindi | निरोप समारंभ भाषण इन हिंदी

Speech on clean start in hindi | निरोप समारंभ भाषण इन हिंदी

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

Speech on clean start in hindi: मनुष्य का जीवन सदा कर्मशील होता है। वह अपनी पूरी जिंदगी में तरह तरह के कार्य करता है। जैसे छात्र रह कर पढ़ाई लिखाई, बड़ा होते कहीं नौकरी या फिर व्यवसाय करना। इंसान निरंतर अपने जीवन में कार्य करता ही रहता है। लेकिन जब हम निरंतर किए जा रहे कार्य को छोड़ते है तब मन में अपनी पुरानी स्मृतियों को याद करते हुए प्रसन्नता, दुख या फिर खुशी अपने भाषण के द्वारा व्यक्त करते हैं। जिसे निरोप समारंभ भाषण कहते हैं।

फेयरवेल, निरोप या फिर विदाई ये शब्द सुनते ही लोग  अपने स्कूल, कॉलेज तथा कहीं कार्यरत जिंदगी की पुरानी यादों को याद करके प्रसन्नित हो जाते हैं।

निरोप समारम्भ का अर्थ (Meaning of clean start)

निरोप समारम्भ मराठी भाषा के शब्द से लिया गया है। जिसमें निरोप का अर्थ-विदा, अलग होना है औऱ समारम्भ का अर्थ किसी प्रोग्राम या कार्यक्रम से है। अक्सर लोग  अपने स्कूल, कॉलेज तथा किसी कंपनी में कार्यरत रहते हुए कई सारें यादों को अपने अन्तर मन में संगृहीत करता है। लेकिन जब वह विदा लेता है या दूसरों को विदा करता है तो निरोप समारम्भ भाषण के माध्यम से उसके सुखद भविष्य की कामना करता है।

जब लोग किसी को विदा करते हैं या किसी से विदा लेते हैं तो हर प्रकार के विदाई के लिये अलग भाषण होता है जो कि निम्नलिखित है:-

  • छात्रों की विदाई पर किया गया निरोप समारम्भ भाषण
  • शिक्षकों की विदाई के लिए निरोप समारम्भ भाषण
  • रिटायरमेंट पर निरोप समारम्भ भाषण
  • ऑफिस में निरोप समारम्भ भाषण
  • सहकर्मियों के लिए निरोप समारम्भ भाषण
  • सीनियर्स के लिए निरोप समारम्भ भाषण
  1. छात्रों की विदाई पर किया गया निरोप समारम्भ भाषण(speech given on the farewell of the students)

छात्रों की विदाई पर किया गया निरोप समारम्भ भाषण यहाँ उपस्थित सभी शिक्षकगणों, प्रधानाध्यापक तथा अतिथियों को मेरा प्रणाम। आज मैं यहां खड़ा हो करके बहुत ही सम्मानित और दुख महसूस कर रहा हूं। सम्मानित होने का कारण यह है कि आज मुझे इस समारोह में भाषण देने के लिए चयन किया गया। इसके साथ मन से काफी अधिक दुख भी महसूस कर रहा हूँ की आज मेरा स्कूल का आखिरी दिन है।

 मेरी पूरी जिन्दगी का शानदार तजुर्बा इस स्कूल में ही रहकर बीता है। यहाँ सभी बहुत अच्छे छात्र, शिक्षक तथा सीनियर है जिनके साथ कई सारी यादें जुड़ी हुई है और बहुत कुछ सीखने को मिला है।

 कक्षा का मॉनिटर होने के नाते मुझे हमारे सीनियर के साथ बातचीत करने का तथा उन्हें समझने का काफी अच्छा मौका मिला। मैं विशेषाधिकार के लिए कई बार चयन भी किया गया। स्कूल में शिक्षकों के द्वारा काफी कुछ अच्छी बातों को सिखाया गया जिसका मार्गदर्शन पूरी जिंदगी भर एक सही दिशा की ओर होता रहेगा। हमने कभी भी किसी प्रकार की उपेक्षित महसूस नहीं किया। बल्कि हम सब संगठित होकर एक साथ रहा करते थें।

स्कूल में बिताए गए काफी अच्छे यादें हमें पूरी जिंदगी भर याद रहेगी। सभी के साथ मनाये जाने वाले त्यौहार, समारोह और पिछले वर्ष व इस वर्ष के सभी गतिविधियों में शामिल होने का दिवस काफी अधिक स्मरणीय है।

यह कड़वा सच है कि हर किसी चीज का एक दिन अंत तो जरूर होता है। मन के न चाहने के बावजूद भी हमें अलग होना पड़ता है। लेकिन यह अंत अनिवार्य है जैसे कि पैरों से पत्तियों का बिछड़ना, किताबों का बंद होना, रास्ता खत्म होना यह सभी किसी नई चीज की शुरुआत को इंगित करता है।

 कक्षा में पाठ के अलावा जिंदगी की कई महत्वपूर्ण बातों को हमारे शिक्षकों द्वारा सिखाया गया है। जिन बातों को समझ करके वह हमेशा कहा करते हैं की हिम्मत और हौसला हमेशा किसी भी मुश्किल परिस्थिति में हमें लड़ने की शक्ति देता है।

 हम सभी अपनी हिम्मत से जिंदगी में वह सब कुछ पा सकते हैं जिससे हम अपने देश के लिए  तथा मानव समाज के लिए कुछ भला कर सके। मेरा सभी सहपाठियों से यही कामना है कि वह दुनिया के विभिन्न स्थानों में जाकर के अपना सर्वोत्तम प्रदर्शन करें और अपने देश का नाम रोशन कर सकें। हमें अपने जीवन में धैर्य रखकर उस बदलाव को अपनाना चाहिए जो हमारे जिंदगी को एक दिशा प्रदान करता हो।

  जिंदगी में आप कितना भी मुकाम क्यों न हासिल कर ले लेकिन उस स्थान को बिल्कुल भी ना भूले जहां से आप की शुरुआत हुई है।

  1. शिक्षकों के लिए निरोप समारम्भ भाषण (Opening Speech for teachers)

 मेरे प्रिय मित्रों, शिक्षकों, प्रधानाध्यापक महोदय, अभिभावकों तथा मेहमानों को मेरा नमस्कार।

आज इस कॉलेज में 10 साल कार्यरत रहते हुए बिछड़ने का समय आया है। मन में दुख के साथ खुशी भी है कि यह मेरा पहला कॉलेज जहां पर मैंने अपने छात्रों को सही शिक्षा दे कर जीवन में सफल होते हुए देखा है।

मेरा दूसरे कॉलेज में ट्रांसफर हो जाएगा वेतन बढ़ जाएगा इस बात का लालच नहीं है। लेकिन मुझे इस बात का खुशी जरूर है कि मेरा यहां पर  शिक्षकों के साथ बिताया गया समय काफी बेहतरीन रहा है।

किसी भी मनुष्य के जीवन में उसका कार्य में अनुभव काफी अधिक मायने रखता है। जब मैं यहां पर बिल्कुल नया आया था, तब मुझे कुछ खास जानकारी बिल्कुल नहीं थी। लेकिन प्रधानाध्यापक महोदय के दिशा निर्देश के द्वारा उनकी बातों से सीख कर के मैंने बच्चों को पढ़ाना  सीखा है।

कुछ शिक्षक ऐसे भी है जो अपना काम निपटा करके तुरंत घर की ओर जाना पसंद करते हैं। लेकिन हमारे  प्रधानाध्यापक महोदय इस कॉलेज को ही अपना घर समझा है  तथा जिसके मेहनत के फलस्वरुप आज यह कॉलेज काफी ऊँचे स्थान को प्राप्त है।

 मेरे सभी साथी शिक्षक ने भी इस कॉलेज को प्रथम स्थान प्राप्त कराने के लिए अपना काफी अधिक समय दिया है। इसके परिणाम स्वरूप स्कूल की प्रसिद्धि पूरे देश भर में है। सभी शिक्षकों ने लगन और काफी मेहनत करके बच्चों को पढ़ाया है जिसे बच्चे पढ़कर आज काफी अधिक ऊँचे स्थान पर है।

 परिवर्तन समय का दूसरा नाम है इसीलिए जीवन में परिवर्तन होते रहना चाहिए। स्कूल से जाने का मन में दुख तो है लेकिन एक नए सफर के लिए  हमेशा एक नये कार्य के लिए तत्पर रहना पड़ता है।

  1. रिटायरमेंट के लिए निरोप समारम्भ भाषण (Retirement opening speech)

 सभी साथियों को मेरा प्रणाम! आज मुझे बहुत खुशी हो रही है कि आप सभी ने मुझे मेरी रिटायरमेंट की विदाई पर इतना आदर करते हुए मेरे लिए ऐसा प्रबंध किया। खास करके मैं प्रबंधन समिति का दिल से नमस्कार करना चाहता हूं कि उन्होंने  मुझे इतना अधिक सम्मान दिया। आज मेरा इस कंपनी से अलविदा होने के कारण मेरे मन में सुख और दुख दोनों भाव प्रकट हो रहा है।

 मुझे कभी यकीन नहीं हुआ था कि आप मेरी कार्य से इतने अधिक प्रसन्न हो जाएंगे। मैं अपने सभी साथियों से यह कहना चाहूंगा कि यदि मन लगाकर अपने कार्य में ध्यान देंगे तब आप भी काफी अधिक सम्मानित होंगे।

 मैं अपनी कहानी की शुरुआत से कहना चाहता हूं जब मैं इस कंपनी में पहली बार आया था। तब मुझे आला अधिकारियों ने मेरी गुणों को पहचानते हुए मुझे ऊंची पोस्ट पर ट्रांसफर करते रहें। आला अधिकारी मुझे यह कह सकते हैं कि मुझे उचित पद मेरे  क्षमता के अनुसार मिला लेकिन उनकी सहायता के बगैर मेरा यहां तक पहुंचना संभव न था।

आदरणीय सहकर्मियों अब मुझे यहाँ से जाना होगा लेकिन मैं आपको कहना चाहता हूं कि आप एक दूसरे का ख्याल रखना और सभी से सद्भाव से बात करना। आपका मुझे इतना आदर देने के लिए सादर धन्यवाद।

 इसी प्रकार दोस्तों के लिए, कर्मियों के लिए, बॉस के लिए तथा अपने अधिकारी के लिए निरोप समारंभ भाषण दिया जाता है।

निरोप समारम्भ भाषण देने के तरीकें [Ways to deliver your Farewell Speech in hindi] -:

निरोप समारंभ भाषण देने के लिए कुछ महत्वपूर्ण तरीके हैं जिसे आप पालन करके एक बेहतरीन भाषण  दे सकते हैं और तालियों की गड़गड़ाहट सुनकर आप अपना हौसला बढ़ा सकते हैं।

  1. भाषण को अच्छे से लिखना

यदि आप एक अच्छा भाषण लोगों को सुनाना चाहते हैं तो सबसे पहले कागज पर संख्या देकर भाषण को बेहतरीन तरीके से पूरी जानकारी के साथ लिख लें। ताकि जब आप उसे पढ़ें तब तुरंत समझ आ जाये।

  1. अपनी स्पीच को पढ़ना

 जब विदाई का भाषण देने के लिए लिखोगे तब कुछ बातों का ध्यान देने की आवश्यकता है। सबसे पहले भाषण के लिए एक आउटलाइन तैयार कर लीजिए। भाषण को प्रिंट करने पर लाइनों का अंतर अधिक होना चाहिए तथा शब्द भी आकार दिखने में बड़े होने चाहिए। ताकि आपको अपने भाषण पढ़ते समय कोई परेशानी न हो।

  1. महत्वपूर्ण शब्द को भाषण के लिये लिखना

जब आप अपने भाषण को लिखते हो तो उस समय यदि आप नंबर दे करके क्लू वर्ड लिखते हो तो उस समय वह भाषण बहुत ही आसान और याद रखने लायक बन जाता है जिससे आप अपने भाषण को  काफी बेहतरीन बना सकते है।

  1. याद करके भाषण देना

जब हम अपने पत्र पर लिखे हुए भाषण कोई याद कर लेते हैं तब एक बेहतरीन भाषण हम लोगों को सुना सकते हैं ऐसी भाषा है जो शब्द में काफी अच्छे और आसान होते हैं उसे प्रशंसक काफी अधिक  पसंद करते हैं।

 निष्कर्ष

निरोप समारम्भ भाषण लोगों की यादों की छाप छोड़ जाता है। इसलिए हम अपने भाषण को जितना बेहतरीन बनाएंगे लोग उतना ही ज्यादा आकर्षित होंगे और उसे सुनेंगे। विदाई भाषण को लोग बिल्कुल भावनात्मक तरीके से सुनते हैं और इसे काफी पसंद करते हैं। हमारी यादों का समाहार विदाई भाषण से व्यक्त होता है जिसमें कोई छात्र, शिक्षक, अधिकारी अपनी पुरानी यादों को लोगों के सामने प्रकट करता है।

- Advertisement -

Most Popular

Essay on Indian army In Hindi | भारतीय सेना पर निबंध हिंदी में

Essay on Indian Army in Hindi में आज हम आपको Indian Army के विषय में essay on Indian Army life in Hindi, History of...

Essay On Cancer in Hindi | कैंसर पर निबंध हिंदी में

आज के इस लेख में हम कैंसर पर निबंध (Essay on Cancer in Hindi) लेकर आए हैं। इस निबंध का उपयोग कक्षा 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10 11...

Essay On Importance Of Hard Work in Hindi | परिश्रम का महत्व पर निबंध हिंदी में

Essay On Importance Of Hard Work in Hindi: परिश्रम का महत्व हमारे जीवन मे कितना अधिक है यह हम सब भलीभांति जानते हैं, खासकर...

Essay on Hindi Diwas in Hindi | हिंदी दिवस पर निबंध हिंदी में

Essay on Hindi Diwas in Hindi: हिंदी भाषा का प्रभाव दुनियाँ में तेजी से बढ़ रहा है। इसकी एक वजह हिंदी भाषा का जमकर...

Recent Comments