Home वजन घटना Jamun Vinegar Benefits for Weight Loss | Vajan Ghataane Ke Lie Jaamun...

Jamun Vinegar Benefits for Weight Loss | Vajan Ghataane Ke Lie Jaamun Siraka Ke Phaayade | जामुन विनेगर बेनिफिट्स फॉर वेट लॉस

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

Jamun Vinegar Benefits for Weight Loss : दुनिया जब से तरक्की और मोबाइल में व्यस्त हो गई है तब से मानव की सोच और उसका शरीर बहुत बदल गया हैं,गलत खानपान और शारीरिक गतिविधि न करने की बजह से मोटापा और मोटापे के कारण बढ़ रहा है सबका कोलेस्ट्रॉल ,ब्लड प्रेशर जो धीरे-धीरे नोर्मल होता जा रहा है,बच्चे से लेकर बड़ो में भी मोटापा और मोटापे से जुड़ी बीमारियां पाई जाने लगी हैं जो भविष्य के लिए एक बड़ी समस्या है, इस समस्या से लड़ने के लिए पहले हमें हमारे मोटापे को कंट्रोल करना होगा क्यूंकि जब हमारा मोटापा कंट्रोल होगा तब हम सब बीमारियो को कंट्रोल कर सकते हैं।

कई लोग मोटापे को कम करने के लिए अंग्रेजी दवाओं का इस्तेमाल करते है जो बिल्कुल भी सुरक्षित नही है,अंग्रेजी दवाएं हमारे शरीर को धीरे-धीरे नुकसान पहुंचाती हैं और हमे पता भी नही चलता।

POPULAR BLOGS — Hindi Essay

अब आपके मन मे होगा कि बिना अंग्रेजी दवाओं के हम कैसे बजन को कम कर सकते है ???
तो आपके इस प्रश्न का जाबाव आज हम लेकर आए है जो है कि आप जामुन विनेगर से ही अपना बजन कम कर सकते हैं बिना किसी नुकसान के और आप चाहे तो आप योगासन कर,टहल भी सकते है।

मोटापे के कारण मानसिक बीमारियां-

बैसे मोटापा एक आम बीमारी बन चुकी है लेकिन मोटापा कई बीमारियों के होने का कारण भी बन रहा है ऐसे समय मे जो बेहद खतरनाक बीमारी है वो है मानसिक बीमारी,क्योंकि मनुष्य जब मोटापे से ग्रसित होता है तब किसी भी छेत्र में उसका आत्मबल खत्म हो जाता है वो खुद को पसन्द नही करता,लोग उसके मोटापे का मजाक बनाते है उसे उसके मोटापे के चलते वो स्थान कभी नही मिल पाता जो उसके काविल है और हर व्यंग्य का कारण बनता रहता है जिस कारण य व्यक्ति में चिड़चिड़ा पन आ जाता है और वो बेमतलब बातों पर झगड़ता रहता है।

क्या है जामुन विनेगर- (What isJamun Vinegar)

जामुन जो बरसात के शरुआती दिनों का एक फल है जो खाने में बेहद स्वादिष्ट होता है लेकिन क्या आपको पता है कि वो फल हमारे शरीर को किस तरह से खाने पर और ज्यादा फायदा करता है,जामुन की गुठली का चूर्ण शुगर के मरीजो को फायदा करता ही है साथ मे अगर हम जामुन को बिनेगर के रूप में प्रयोग करते है तो बजन कम करने के साथ-साथ और परिणाम भी प्राप्त होते हैं,जामुन के बिनेगर का हिंदी अर्थ है जामुन का सिरका जो हमे सूर्य की रोशनी में कुछ जीवाणुओं की क्रियाओं के बाद प्राप्त होता है।

जामुन विनेगर से कैसे करें ठीक मोटापा –

यहां हम आपको बताएंगे जामुन विनेगर से बजन कम करने के तरीके,जिससे कुछ ही समय मे आप पा लेंगे एक स्वस्थ शरीर,जिसके लिए आपको रोजाना जामुन विनेगर (सिरके) को सुबह और शाम को लेना है साथ मे करना है योगा,जामुन बिनेगर लेने से आपके पाचन की समस्या बढ़िया होती है जिससे आप जो भी खाते है सब पच जाता है और आपके शरीर में फैट एकत्र नही हो पाता, लेकिन जो जरुरी एनर्जी होती है वो आपको खाने के द्वारा मिल जाती है।
इस के सेवन से आप सिर्फ अपना मोटापा ही नही बल्कि कब्ज ,अपच ,शुगर ,किडनी प्रॉब्लम भी ठीक कर सकते हैं वो भी बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के।

क्या-क्या फायदे है जामुन बिनेगर के-

वैसे तो जामुन बिनेगर के अनगिनत फायदे है लेकिन कुछ खाश फायदे हैं जो यहां आपको हम बताने जा रहे हैं-

कोलेस्ट्रॉल में– जामुन विनेगर कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है ये बात कई शोधों में प्रमाणित हो चुकी है,अगर आप नियमित रूप से जामुन बिनेगर का सही मात्रा के प्रयोग करते है तो आप अपने बढे हुए कोलेस्ट्रॉल को काफी कम कर सकते है।

चेहरे की सुंदरता के लिए-आपको जानकर हैरांनी होगी कि जामुन बिनेगर का प्रयोग करने से आप को चेहरे में कील- मुहासों की परेशानी का सामना नही करना पड़ेगा,आपके चेहरे में चमक आएगी और दानों के निकलने की संभावना बेहद कम रहेगी क्योंकि आपकी पाचन शक्ति बढ़िया हो जाएगी।

कब्ज का होगा खात्मा– गलत खानपान से कब्ज भी आम समस्या बन चुकी है तो अगर हम अपने खाने में या सुबह में जामुन के विनेगर को स्थान देते है तो हम अपने कब्ज की समस्या से भी दूर हो जाएंगे।

विटामिन C का भंडार– वैसे खट्टे फलों में विटामिन C पाई जाती है लेकिन जामुन के फल से प्राप्त सिरके(बिनेगर) में भी बिटामिन C पाई जाती है जो हमारे शरीर मे दांतो ,बालों और शरीर की मरम्मत में जरूरी होता है।

शुगर को करता है कंट्रोल– अब बात करें शुगर की तो उसे भी कंट्रोल करता है जामुन का बिनेगर,अगर आपकी शुगर बढ़ी हुई है तो आप जामुन के बिनेगर का इस्तेमाल कर सकते है जिससे आपकी शुगर कुछ मात्रा में कम बढ़ेगी।

इम्युनिटी को बढ़ाता है जामुन बिनेगर– अब कोरोनकाल में सबसे ज्यादा जरूरी अगर कुछ है तो वो है आपकी इम्मयून सिस्टम क्योंकि कोरोना वायरस आपके इम्मयून सिस्टम पर बार करता है तो आप को बता दें कि जामुन विनेगर आपकी इम्युनिटी को भी बढ़ाता है।

जामुन विनेगर के अलाबा और क्या करे-

  1. आप सुबह टहलने जा सकते है।
  2. सुबह नींबू पानी पी सकते हैं।
  3. आप खाना बार-बार की जगह एक बार खाएं।
  4. खाने को चबाकर खाएं।
  5. आप योगासन भी कर सकते हैं।
  6. ज्यादा खाली पेट नही रहना है इसके लिए आप फाइबर फ़ूड भी ले सकते है।
  7. पानी खूब पिएं।
  8. अच्छी नींद लें,कम से कम 7 घण्टे सोएं।

जामुन विनेगर लेने के तरीके-

  1. याद रहे कि जामुन विनेगर एक या दो बार ही लेना है।
  2. जमुन बिनेगर की मात्रा दो छोटी चम्मच से कम ही हो।
  3. आप जामुन बिनेगर को पानी मे मिलकर भी ले सकते हैं।
  4. खाने के बाद न लें जामुन विनेगर।
  5. अगर आपको ज्यादा प्रोब्लम है तभी दो बार लें अन्यथा एक बार ही काफी है।
  6. जामुन बिनेगर पूरी तरह से विनेगर में परिवर्तित हो चुका होना चाहिए।

कैसे बनाएं जामुन बिनेगर-

  1. अवश्यक सामिग्री-
    1 Kg जामुन
    3-4 काली मिर्च
    स्वादानुसार नमक
  2. सहायक सामिग्री-
    एक कांच की शीशी
    सूती कपड़ा
    एक वर्तन

विधि-

सबसे पहले जामुन को साफ पानी से धुल लें,उसके बाद आप जामुन को इकट्ठा करके सूती कपड़े में बंद करके एक वर्तन में एक महीने के लिए बढ़िया धूप में रख दें,उतने समय में उचित धूप और जीवाणुओं की मदद से जामुन का जूस सिरके में बदलने लगेगा,समयाबधि पूर्ण होने के बाद आप जामुन को वर्तन में से निकाल कर किसी माध्यम से उनका जूस निकाल लें,वो जूस अब आपका पूर्ण रूप से सिरका यानी बिनेगर बन चुका है जिसे आप किसी भी शीशी में बंद कर के रख दे।

इसका उपयोग आप सलाद, पीने में या और भी किसी तरीके से कर सकते हैं।

अगर आप चाहे तो दुकान पर पहले से बने हुए जामुन के सिरके उपलब्ध है वो पे सकते हैं लेकिन हो सकता है कि बाजार में उपलब्ध जामुन विनेगर थोड़े महंगे हो आप पतजंलि का जामुन बिनेगर भी ले सकते हैं जो आपको नजदीकी पतजंलि स्टोर पर आसानी से उपलब्ध हो जाएगा।

- Advertisement -

Most Popular

Essay on addiction in Hindi and His Causes and Effects of Technology

Essay on addiction in Hindi को सही से परिभाषित किया जाय तो इस का सीधा मतलब है बुरी आदत की लत। जब इंसान को...

Essay on Lord Buddha and Gautam in Hindi and His Full Life Story and Biography in Hindi

Essay on Lord Buddha and Gautam in Hindi: भगवान बुद्ध का जन्म लगभग 563 ईसा पूर्व में कपिलवस्तु के समीप लुंबिनी वन (आधुनिक रूमिंदाई...

Essay on Seasons in India in Hindi | Rainy Seasons in Hindi

Essay on seasons in India in Hindi से हम जानेंगे कि भारत की ऋतुएं खुद में बहुत ख़ास है। भारत इस पूरे विश्व का...

Essay on Importance of Family in Hindi | Family Values for Kids and Friends

Essay on importance of family in Hindi की  सहायता से हम जानते हैं कि family यानी कि परिवार हमारे जीवन में काफी महत्वपूर्ण भूमिका...

Recent Comments