Essay on the importance of time in Hindi | हिंदी में समय के महत्व पर निबंध

essay on the importance of time

Essay on the importance of time मे आपके लिए एक बेहद ही उपयोगी निबंध लाए हैं, जिसमे समय की कीमत के बारे में बताया गया है। साथ ही समय का सदुपयोग कैसे करें इसके बारे में भी जानकारी दी गई है।

इस निबंध का उपयोग सभी कक्षा के विद्यार्थी कर सकते हैं।

Table of Contents

Essay on the importance of time in Hindi – हिंदी में समय के महत्व पर निबंध {250words}

प्रस्तावना.

बेंजामिन फ्रैंकलिन समय के बारे में कहा करते थे कि “समय धन है।” यह बात पूरी तरह सत्य है। इस दुनियाँ समय से ज्यादा कीमती कुछ भी नही है। कुछ लोग धन और स्वास्थ्य को बहुत अहमियत देते हैं लेकिन ये दोनों ऐसी चीज़ें हैं जो एक बार चली भी जाए तो जतन करके वापस पाया जा सकता है लेकिन समय एक बार चला गया तो फिर वापस नही आता।

Time does not stop for anyone in Hindi – (समय किसी के लिए नहीं रुकता है इन हिंदी)

समय (Essay on the importance of time) एक ऐसा विषय है जिसके बारे में बड़े बड़े विचारकों ने काफी कुछ कहा है। जब सभी की बातों का निचोड़ निकाला जाए तो यही निष्कर्ष निकलता है कि समय किसी के लिए नही रुकता है।

समय न तो कभी पीछे जाता है और न ही रुकता है। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम समय के साथ चलें नही तो समय आगे निकल जायेगा और हम पीछे छूट जायेगे, क्योंकि समय कभी किसी का इंतजार नही करता है।

Always Time is the Strongest – (समय होता है सबसे बलवान)

अक्सर एक कहावत हमारे समाज मे कही जाती है कि “सबका समय आता है।” यह कहावत एक इशारा है कि समय से बलवान इस संसार मे कुछ और नही है। जिसने इस बात को समझ लिया और समय रूपी ईंधन को अपने जीवन को सही दिशा देने के लिए उपयोग करना सीख गया, उसका जीवन सार्थक हो ही जाता है।

इसीलिए कहा जाता है कि समय का सदुपयोग करो क्योंकि इसमें इतनी ताकत होती है कि राजा को रंक और रंक को राजा बना सकता है, बस इसका सही उपयोग होना चाहिए।

उपसंहार.

हम अपने जीवन में कितने सफल होंगे यह इस बात पर निर्भर करता है कि हमने अपने जीवन में समय का कितना सदुपयोग किया है।

काफी लोग जीवन में सफलता हासिल करने का जतन करते रहते हैं लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिल पाती क्योंकि वह समय का सदुपयोग नहीं करते।

इसलिए समय को कीमत को पहचानिए क्योंकि जितने भी महापुरुष हुए हैं उन्होंने समय के महत्व को समझा है और उसका सही कामों में उपयोग किया है।

यदि वह भी समय का दुरुपयोग (Essay on the importance of time) किये होते तो शायद आज हम उन्हें नहीं जान पाते। समय हीरे से भी ज्यादा मूल्यवान है। यह एक ऐसा धन है जो हमें दिखाई नहीं देता लेकिन जिसने भी इसका सही उपयोग किया वह व्यक्ति जीवन में सफल जरूर होता है।

10 Lines for important of time –(समय के महत्व पर 10 लाइन)

Set-1.

10 Lines on Time is Money essay in Hindi – (टाइम इज मनी पर 10 लाइन)

Set-2.

  • ‘समय ही धन है’ यह एक ऐसी पंक्ति है जो हम हमेशा से सुनते हैं। ये पंक्ति वक़्त के महत्व को उजागर करती है।
  • समय पैसे से ज्यादा कीमती है क्योंकि जो पैसा बर्बाद हो जाता है उसे दोबारा कमा सकते हैं लेकिन वक़्त बर्बाद हो गया तो उसे दोबारा नही ला सकते हैं।
  • समय का अच्छा प्रबंधन हमारे जीवन मे खुशियाँ और धन को बढ़ाता है।
  • जो व्यक्ति समय को महत्व को जल्दी समझ जाता है उसी जीवन में बड़ी बड़ी सफलताएँ हासिल होती है।
  • हमें अपनी दिनचर्या बहुत अच्छे तरीके से बनानी चाहिए कि ताकि हर मिनट का हम सदुपयोग कर सकें।
  • समय ही धन है इसी बात को बेंजामिन फ्रैंकलिन भी कहा करते थे।
  • किसी भी व्यक्ति की सफलता या असफलता इस बात पर निर्भर करती है कि वह अपने वक़्त का इस्तेमाल किस तरह कर रहा है।
  • यदि हमारे देश का हर एक नागरिक समय को धन की तरह महत्व देने लगे तो कुछ ही वर्षों में हमारा देश एक खुशहाल देश बन सकता है।
  • एक विद्यार्थी यदि साल के शुरूआत से ही अपना वक़्त सही तरह से पढ़ाई के लिए इस्तेमाल कर रहा है तो उसे परीक्षा पास करने में कोई परेशानी नही आएगी।
  • एक उद्यमी यदि समय का सही उपयोग कर रहा है तो उसका बिजनेस बाकी लोगो की तुलना में जल्दी सफल होगा।

10 lines for Time Never Comeback in Hindi – (वक़्त कभी वापस नही आता पर 10 लाइन)

Set-3.

  • एक कहावत है कि वक़्त और ज्वार किसी का इंतजार नही करते। ये कहावत हमें सीख देती है कि गुजरा वक़्त कभी वापस नही आता।
  • हमारे जीवन का हर एक पल बस गुजर रहा है, वह एक सेकंड के लिए भी नही रुकता। लेकिन हम रुक जाते हैं, यही हमारी सबसे बड़ी भूल है।
  • जिस तरह से हम समुद्र की बहती लहरों को रोक नही सकते, ठीक उसी तरह हम वक़्त को आगे बढ़ने से नही रोक सकते।
  • वक़्त किसी बहती नदी की तरह है जो आगे तो बढ़ सकती है। लेकिन उसी रास्ते से पीछे नही आ सकती।
  • हम वक़्त को देख नही सकते लेकिन इसे गुजरते हुए महसूस कर सकते हैं। दिन-रात, बदलते मौसम यह सब गुजरते वक़्त की निशानी है।
  • गुजरता वक़्त हमें सिखाता है कि हमें जिंदगी में हमेशा हर काम समय पर करना चाहिए।
  • जीवन में एक सेकंड का महत्व जानना है उससे मिलना चाहिए जिसकी ट्रेन छूट गई है, नैनो सेकंड की कीमत समझना है तो उससे मिलिए जो दौड़ हार गया है।
  • हमारे जरूरत की सभी चीज़े हम खरीद सकते हैं लेकिन वक़्त कभी नही खरीद सकते।
  • वक़्त के संदर्भ में एक प्रचलित कहावत है कि “अब पछताए होत का जब चिड़िया चुग गई खेत” यानी कि एक बार वक़्त निकल गया तो फिर लाख पछतावे के बाद भी वह वापस नही आता।
  • इसीलिए हमें वक़्त का महत्व समझना चाहिए और सही दिशा में उपयोग करना चाहिए।

Essay on the importance of time for class 5 in Hindi – हिंदी में समय के महत्व पर निबंध {500words}

प्रस्तावना

हमारी जिंदगी में वक्त सबसे ज्यादा कीमती है इसीलिए हर व्यक्ति को वक्त के महत्व (Essay on the importance of time) को समझना चाहिए और इसका सही उपयोग करना चाहिए, क्योंकि वक्त इतना ताकतवर होता है कि यह हमारी जिंदगी को बना भी सकता है और बर्बाद भी कर सकता है।

यदि हमने अपने जीवन के एक-एक पल को उचित कर्मों के लिए समर्पित कर दिया तो हमारा जीवन बहुत ही सुखमय होगा और किसी भी तरह की कमी हमें अपनी जिंदगी में महसूस नहीं होगी।

वही यदि हमने समय को अनुपयोगी कामों में लगा दिया तो एक दिन ऐसा जरूर आएगा जब हम जरूरी चीजों के लिए वक्त की कमी महसूस करेंगे।

क्योंकि जब हमारे पास वक्त था तब हमने उन कामों की तरफ कभी ध्यान दिया ही नहीं। इसीलिए बड़े बुजुर्ग हमेशा कहते हैं कि हमेशा वक़्त का पाबंद होना चाहिए क्योंकि वक्त की पाबंदी ही हमें सफलता दिलाती है।

Meaning of Good use of time – (वक़्त के सदुपयोग से तात्पर्य)

हमें यह बात हमेशा बताई जाती है कि जीवन में वक्त का सदुपयोग करना चाहिए लेकिन सदुपयोग के सही अर्थ से हम हमेशा अनभिज्ञ रहते हैं। जिस पल जो काम जरूरी है उस पल वही काम करना ही वक्त का सदुपयोग करना कहलाता है।

जैसे यदि एक विद्यार्थी अपनी पढ़ाई पर ध्यान नहीं देता इसकी जगह दूसरे कामों पर ध्यान देता है तो वह वक्त बर्बाद कर रहा है क्योंकि जिस उम्र में वह दूसरे सारे काम कर रहा है उन्हें आगे चलकर भी कर सकता है, लेकिन एक बार पढ़ाई करने की उम्र निकल गई तो फिर वह ताउम्र पढ़ाई नहीं कर पाएगा।

इसलिए यह समझना बहुत जरूरी है कि किस वक्त हमें किस काम को महत्व देना चाहिए, क्योंकि हर काम करने की एक निश्चित उम्र होती है। यदि उस उम्र तक हमने वह काम नहीं किया तो आगे चलकर वही काम एक बोझ बन जाएगा और हम उसे अच्छी तरह नहीं कर पाएंगे।

Importance of time in student life – (विद्यार्थी जीवन मे समय का महत्व)

समय के महत्व (Essay on the importance of time) की पहली सीख हमें विद्यार्थी जीवन में मिलती है। हम अक्सर देखते हैं कि जो विद्यार्थी पढ़ने में अव्वल होते हैं उनमे समय प्रबंधन की एक बहुत ही अच्छी कला होती है।

वह अपनी पढ़ाई के लिए पर्याप्त वक्त निकालते हैं साथ ही अपने मनोरंजन के लिए भी वक्त निकालते हैं। उन्हें पता होता है कि हमारे जीवन में दोनों ही चीजें बहुत जरूरी है लेकिन किसी एक चीज की अति कहीं ना कहीं हमारे लिए नुकसानदायक है इसलिए दोनों के बीच संतुलन बहुत जरूरी है।

जो विद्यार्थी समय के महत्व को नहीं समझते हैं उन्हें भी इस बात का ध्यान होना चाहिए कि परीक्षा में पास होने के लिए पढ़ाई तो करनी ही पड़ेगी। वही पढ़ाई साल के आखिरी में करने से बेहतर है कि हम साल भर थोड़ा-थोड़ा पढ़ाई करते रहे जिससे कि परीक्षा के वक्त हमें पढ़ाई का ज्यादा बोझ महसूस ना हो।

कुछ विद्यार्थी ऐसे होते हैं जो साल भर पढ़ाई नहीं करते। उन्हें ऐसा लगता है कि परीक्षा के दौरान पढ़ाई कर लेंगे लेकिन यह एक बहुत ही गलत धारणा है। हो सकता है विद्यार्थी जीवन में हमें इसके दुष्परिणाम काफी कम दिखाई दे लेकिन भविष्य में आप की यह आदत आपके कैरियर के लिए काफी नुकसानदेह हो सकती है।

इसलिए बचपन से ही विद्यार्थियों को समय के महत्व का ज्ञान जरूर देनी चाहिए। हमारे माता-पिता की भी यह जिम्मेदारी बनती है कि बच्चों को समय का सदुपयोग करने के तरीके बताएं। ऐसा नहीं है कि उन्हें खेलने से रोके लेकिन उन्हें पढ़ाई के महत्व और वक्त पर सही काम करने के महत्व के बारे में जरूर बताना चाहिए।

उपसंहार.

हमारे जीवन में हर पल कई नए अवसर जन्म लेते हैं लेकिन इसके लिए जरूरी है कि हमारी आँखे खुली हो, और हम सजग हों।

लेकिन यह सजगता हमारे अंदर तब तक नहीं आ सकती जब तक हम समय के महत्व (Essay on the importance of time) को नहीं समझते। जिस दिन हम समय के महत्व को समझने लगेंगे उस दिन हम वर्तमान में जीना सीख जाएंगे। फिर न भविष्य की चिंता रहेगी ना ही अपने भूतकाल की यादों में खोए रहेंगे क्योंकि अपना वर्तमान सुखद बनाने में व्यस्त रहेंगे।

Essay on the importance of time for class 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10,11,12 in Hindi – हिंदी में समय के महत्व पर निबंध

प्रस्तावना.

ईश्वर के द्वारा इंसानों को दी गई सबसे अमूल्य संपदाओं में से एक समय है। समय का कोई मोल नहीं है। इसको हम बाजार से ना तो खरीद सकते हैं ना ही इसको बेच सकते हैं। यह कब बीत जाता है हमें पता नहीं चलता।

जीवन में सफलता-असफलता का बहुत गहरा संबंध समय के सदुपयोग से है। जिसने समय को साध लिया वह सफल हो गया पर जिसने समय को बर्बाद किया वह असफलता की ओर बढ़ चुका है।

समय का कोई विकल्प नहीं है, समय किसी का गुलाम नहीं है। समय से ज्यादा कीमती इस संसार में कुछ भी नहीं है। यदि हम समय का अच्छा उपयोग करते हैं तो एक दिन इस काबिल बन जाते हैं कि संसार की कोई भी चीज खरीद सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ संसार की सारी वस्तुओं को बेचकर भी गुजर चुके समय को वापस नही ला सकते।

Everyone has limited time – (हर व्यक्ति के पास है सीमित समय है)

हमारे वेदों में कहा गया है कि हर व्यक्ति के जन्म के साथ ही उसकी मृत्यु भी तय हो जाती है। हमारा जीवन पृथ्वी पर एक सीमित वक्त के लिए है।

कोई भी यहाँ हमेशा नहीं रह सकता,एक दिन सभी को मृत्यु का सामना करना है। यानी हर व्यक्ति के पास एक निश्चित समय होता है।

इसी समय के अंदर उसे अच्छे काम करने हैं,लेकिन अफसोस की बात यह है कि आजकल इंसानों का अधिकतर समय बेकार के कामों में बर्बाद हो जाता है।

लोग ऐसी चीजों को मूल्यवान समझने लगे हैं जो कि जीवन के लिए बिल्कुल भी महत्वपूर्ण नहीं है,लेकिन जिन चीजों का जीवन में वाकई महत्व है उनके लिए लोग वक्त नहीं निकाल पाते।

इसलिए यह जरूरी है कि हम समय के महत्व को समझे। हम जो कुछ भी करना चाहते हैं उसकी शुरुआत आज से ही करें कल पर उसे ना छोड़े क्योंकि कबीर दास जी ने कहा कहा है कि

काल करे सो आज कर आज करे सो अब, पल में प्रलय होएगी बहुरि करेगा कब||

कहने का तात्पर्य यह है कि जो काम हम कल के लिए छोड़ देते हैं उसे आज ही करना चाहिए क्योंकि किसी के जीवन का अंत कब हो जाए इसका कोई ठिकाना नहीं है।

Time is priceless heritage – (समय है एक अमूल्य धरोहर)

समय (Essay on the importance of time) एक ऐसी संपत्ति है जिसे दोबारा कमाया नहीं जा सकता हैं। जीवन में यदि धन नष्ट हो गया तो कुछ नहीं गया पर यदि समय नष्ट हो गया तो बहुत कुछ चला गया।

धन दोबारा कमाया जा सकता है लेकिन एक बार जो समय चला गया तो वह हजार कोशिशों के बाद भी वापस नहीं आ सकता।

इसलिए हमारा यह दायित्व है कि अपने जीवन के हर एक पल को सही और जरूरी कामों में ही लगाएं। हम हर दिन यह सोचे कि इस वक्त हमारे लिए क्या जरूरी है, और जरूरी कामों में ही अपना वक्त बितायें।

यदि आप जरूरी कामों में अपना वक्त नहीं बिताएँगे तो 1 दिन जीवन बहुत ही अंधकार में डूब जाएगा और फिर वहां से जीवन में वापस जीवन मे खुशियाँ भरना बहुत मुश्किल होगा।

इसलिए समय के साथ कदम से कदम मिलाकर चलते रहिए। कभी भी अपने कामों को कल पर छोड़ने की आदत नहीं डालना चाहिए क्योंकि यही आदत समय की बर्बादी का सबसे बड़ा कारण बनती है।

Why our time is wasted – हमारा वक़्त क्यों बर्बाद होता है?

यह बात हम सब लोग जानते हैं कि हमारे पास सीमित वक़्त है लेकिन फिर भी हम लोग वक्त बर्बाद करते हैं। हम जरूरी कामों के लिए वक्त नहीं निकाल पाते और बाद में परेशान होते हैं। कुछ ऐसे कारण जिनकी वजह से हमारा वक्त बहुत ज्यादा बर्बाद होता है निम्नलिखित है:-

योजना की कमी

हमारे पास कोई एक निश्चित योजना नहीं होती जिसकी वजह से हमारा बहुत ज्यादा वक्त बर्बाद हो जाता है। जैसे यदि एक विद्यार्थी की दृष्टि से देखा जाए तो उसे एक दिन पहले ही यही योजना बना लेनी चाहिए कि अगले दिन उसे किन-किन विषयों को पढ़ना है।

अब यदि उसने योजना नहीं बनाई है तो अगले दिन जब वह पढ़ने बैठेगा तो उसके मन में संशय रहेगा कि कौन सा विषय वह पहले पढ़े और कौन सा विषय बाद में। इसी दुविधा में उसका बहुत सारा वक्त बर्बाद हो जाएगा।

योजना बनाने का यह नियम हर जगह लागू होता है। हमें एक योजना बनाकर ही अपने सभी काम करने चाहिए।

लक्ष्य का अभाव

जब तक हमारे जीवन में कोई लक्ष्य नहीं होगा तब तक हमारा वक्त बर्बाद ही होता रहेगा क्योंकि लक्ष्य एक चुंबक की तरह है जो हमारी सारी ऊर्जा को अपनी तरफ खींच लेता है। हमारे सारे काम उसी लक्ष्य के अनुसार होने लगते है, और वक़्त बर्बाद नही होता।

पर लक्ष्य के आभाव में हमारी सारी ऊर्जा इधर-उधर बिखरी रहती है हम किसी एक काम पर ध्यान नहीं दे पाते। कभी भी हमें भटकाव आ जाता है फिर वक़्त बर्बाद होना शुरू हो जाता है।

किसी चीज का नशा लग जाना

नशा बहुत बुरी चीज होती है क्योंकि यह वक़्त को सबसे ज्यादा बर्बाद करती जाती है और हमें पता भी नहीं चलता।

यहाँ सिर्फ मादक पदार्थों के नशे की बात नहीं हो रही है।ऑनलाइन गेमिंग और सोशल मीडिया आज के वक्त का एक सबसे बड़ा नशा है जो समय को सबसे ज्यादा बर्बाद कर रहा है।

खासकर जो अपनी किशोरावस्था में है उनके लिए तो यह दोनों ही चीजें सबसे बड़ी दुश्मन है। हम देखते हैं कि आजकल के बच्चों में ऑनलाइन गेम के प्रति बहुत ही ज्यादा झुकाव है।

वो अपना पूरा दिन गेम में ही निकाल देते हैं यहाँ तक कि इस चक्कर में वह अपनी पढ़ाई भी छोड़ देते हैं। इसके बाद जो थोड़ा-बहुत वक़्त बचता है वो सोशल मीडिया में दोस्तों के साथ बातचीत करने में चला जाता है।

भावी युवा पीढ़ी को यह समझना चाहिए कि यह कीमती समय सिर्फ गेम और सोशल मीडिया के लिए नहीं है। गेम और सोशल मीडिया जीवन का हिस्सा बने रहे इसमें कोई बुराई नहीं है लेकिन इनका उपयोग सीमित समय के लिए होना चाहिए।

Ways to use time well – (समय का सदुपयोग करने के उपाय)

कुछ जरूरी नियमों को अपनाकर कोई भी व्यक्ति समय का सही उपयोग कर सकता है।

लक्ष्य निर्धारण करके.

जब तक आपके जीवन में कोई एक निश्चित लक्ष्य नहीं होगा तब तक हजारों कोशिशें करने के बावजूद भी हम समय का सदुपयोग नहीं कर पाएंगे क्योंकि हमारे शरीर की ऊर्जा कहीं ना कहीं तो उपयोग होगी ही।

लक्ष्य के अभाव में यह गलत जगहों पर उपयोग होगी वहीं यदि हमारे जीवन में कोई लक्ष्य रहा तो हम सारी ऊर्जा लक्ष्य की प्राप्ति के लिए लगाएंगे।

लक्ष्य दो प्रकार के होते हैं:-

  • अल्पकालिक लक्ष्य
  • दीर्धकालिक लक्ष्य

अल्पकालिक लक्ष्य.

ऐसे लक्ष्य जो कम समय अवधि में पाने के लिए बनाए जाते हैं उन्हें अल्पकालिक लक्ष्य कहा जाता है। जैसे हमें दिन भर में क्या करना है यह एक अल्पकालिक लक्ष्य है। लेकिन अल्पकालिक लक्ष्य हमेशा दीर्घकालिक लक्ष्य को ध्यान में रखकर ही बनाए जाते हैं।

दीर्धकालिक लक्ष्य

ऐसे लक्ष्य जो लंबे समय अवधि के लिए बनाए जाते हैं वह दीर्घकालिक लक्ष्य कहलाते हैं। जैसे यदि किसी विद्यार्थी ने साल के शुरू में ही यह निर्धारित कर लिया कि परीक्षा में 80% नंबर लाने हैं तो यह उसका दीर्घकालिक लक्ष्य हो गया। इसके लिए वह छोटे-छोटे अल्पकालिक लक्ष्य बनाएगा जो इस बड़े लक्ष्य को पाने में उसकी मदद करेंगे। इसलिए इन दोनों तरह के लक्ष्यों को बनाना बहुत जरूरी है।

Important to undestand the importance of work – (काम की महत्व को समझना है जरूरी)

हम लोग किसी काम को करने में लेटलतीफी इसी वजह से करते हैं क्योंकि उसके महत्व को नहीं समझते। इस लिए सबसे पहले यह जरूरी है कि हम काम के महत्व को समझे। इसके बाद काम से जुड़े छोटे-छोटे लक्ष्य बनाएं, कोई काम करने के दौरान आलस्य या टालमटोल ना करें।

समय सीमा निश्चित हो

कभी-कभी हम किसी काम की शुरुआत तो कर देते हैं पर उसका अंत नहीं कर पाते इसकी वजह से भी हमारा बहुत ज्यादा वक्त बर्बाद होता है।

इसलिए यह जरूरी है कि काम की मात्रा और कठिनाई को देखते हुए इसकी समाप्ति की एक निश्चित समय सीमा आप खुद तय करें।

हो सकता है आप निश्चित समय सीमा तक अपना काम खत्म ना कर पाए लेकिन फिर भी इस बात की बहुत ज्यादा उम्मीद होगी कि आप काम खत्म करने के बहुत ही करीब पहुंच चुके होंगे।

पर यदि हमने कोई एक निश्चित समय सीमा नहीं तय की है तो काम करते करते हमें पता ही नही चलता कि इस काम मे हमने कितना वक्त लगा दिया है।

Importance of time Couplets – (समय के महत्व पर दोहे)

कवि रहीमदास ने समय ने संदर्भ में एक दोहा लिखा है कि

समय पाय फल होत है समय पाय झरि जात
सदा रहै नहि एक सी का रहीम पछितात ।

अर्थात समय पर पेड़ पर फल लगते हैं फिर समय पर ही पेड़ से फल गिर भी जाते हैं। यानी वक़्त हमेशा एक जैसा नही होता है इसलिए पछताना व्यर्थ है।

एक दोहे में रहीमदास ने लिखा है कि :-

समय लाभ सम लाभ नहि समय चूक सम चूक
चतुरन चित रहिमन लगी समय चूक की हूक ।

अर्थात समय का लाभ उठाने से बड़ा कोई और लाभ नही है ना ही समय गवाने से बड़ी कोई हानि। एक बार समय चूक जाए तो चतुर लोगो के मन मे भी इसका मलाल रहता है।

दया करें इंसान बस, समय न करता माफ।
दे करनी का फल, सदा करता है इंसाफ।।

अर्थात, दया सिर्फ इंसान ही करता है, समय कभी किसी पर दया नही करता। जो जैसा कर्म करता है उसको वैसा ही फल देकर इंसाफ करता है।

कभी घमंड है ना कीजिए, समय बड़ा बलवान।
किये रंक राजा कई, निर्धन को धनवान।।

अर्थात, कभी किसी को घमंड नही करना चाहिए क्योंकि समय से बड़ा बलवान कोई नही है। समय ही है जो रंक को राजा और निर्धन को धनवान बना सकता है।

मंजिल उसको प्राप्त जो करता है प्रयास।
समय उसी का साथ दे जिसको है विश्वास।।

मंजिल सिर्फ प्रयास करने वालों को ही मिलती है। समय भी उसी का साथ देता है जिसे विश्वास होता है।

समय के आगे ना चले कभी किसी का जोर।
रचता अपना खेल यह कभी न करता शोर।।

समय के आगे किसी का जोर नही चलता है। यह बिना शोर किये अपना खेल रचता रहता है।

समय न ठहरा है कभी-कभी ना बदली चाल।
जिसके जैसे कर्म है उसका वैसा हाल।।

समय कभी नही रुका है और न ही अपने चलने का तरीका बदलता है। जो जैसा कर्म करता है, उसको वैसा ही परिणाम देता है।

समय मिलाएं धूल में,समय-समय दिलाए ताज। समय समय जो है चला, हुआ उसी का राज।।

समय किसी को धूल में मिला सकता है तो किसी को ताज भी दिला सकता है। जो व्यक्ति समय (Essay on the importance of time) के साथ चलता है सिर्फ उसी का राज होता है।

निष्कर्ष.

हमारे वेदों में बताया गया है कि भगवान का वक़्त भी निर्धारित है। एक दिन वो भी नष्ट हो जायेंगे। यानी यह बताने की कोशिश की गई है कि काल से बड़ा कोई नही है। काल के सामने जो नतमस्तक होकर इसको इज्जत देता है उसी ने संसार मे सब कुछ पाया है।

जिसने भी वक़्त से लड़ने की कोशिश की है और इसे उचित सम्मान नही दिया वह बर्बाद ही हुआ है। हमारे पूर्वज इस बात को अच्छी तरह जानते और समझते थे।

इसीलिए उन्होंने लेखों के माध्यम से बताया है कि वक़्त (Essay on the importance of time) बर्बाद मत करना। अब यह हमारा फर्ज है कि अपने जीवन को होशपूर्ण तरीके से जिये। वक़्त को सीमित मानकर काम करें तो काम करने का भी आनंद उठा पाएंगे और जब वक़्त पर काम पूरा होगा तो उसका परिणाम भी अच्छा ही मिलेगा जिससे जीवन भी खुशियों से भर जाएगा।