Home निबंध Clean India Mission | Svachchh Bhaarat Mishan | स्वच्छ भारत मिशन

Clean India Mission | Svachchh Bhaarat Mishan | स्वच्छ भारत मिशन

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

Clean India Mission : स्वच्छ भारत अभियान एक प्रकार का स्वच्छता अभियान है। जिसके जरिए देश के हर एक इलाके को स्वच्छ बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अभियान की शुरुआत की है। सन 2014 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार भारत के प्रधानमंत्री बने, तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 2 अक्टूबर 2014 को इस मिशन को पूरे देश भर में लागू किया था। इस स्वच्छ भारत अभियान का मुख्य उद्देश्य देश के हर एक कस्बे को स्वच्छ और साफ सुथरा बनाना है। आज हम इस आर्टिकल में स्वच्छ भारत अभियान के बारे में जिक्र करेंगे।

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत

स्वच्छ भारत अभियान जिसकी शुरुआत नई दिल्ली के राजघाट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 2 अक्टूबर 2014 को की गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इस मिशन की शुरुआत 2 अक्टूबर गांधी जयंती के दिन इसीलिए की गई थी। क्योंकि गांधीजी भी भारत को स्वच्छ करने के लिए काफी जागरूक थे और उन्होंने कई मिशन भी चलाए थे। जिनसे देश को स्वच्छ बनाया जा सके। महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को हुआ था। उनकी 145 वी जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की गई।

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत भारत सरकार द्वारा भारत को पूरी तरह से साफ सुथरा बनाने के लिए 2 अक्टूबर 2014 को गांधीजी की 145 वी जयंती पर आधिकारिक रूप से लांच किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इसे राजघाट नई दिल्ली में लांच किया गया। क्योंकि महात्मा गांधी जी ने भारत को स्वच्छ बनाने का लक्ष्य लिया था।

उनकी यह देश भक्ति और देश को स्वच्छ बनाने का जुनून को पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह कदम उठाया। इसे स्वच्छ देश बनाने के लिए प्रत्येक नागरिक को खुद को जिम्मेदार ठहरा कर इस अभियान को लांच किया गया।

स्वच्छ भारत अभियान का लक्ष्य

इस अभियान की शुरुआत करने के पश्चात एक निश्चित लक्ष्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रखा गया, कि गांधी जी की 150वीं जयंती तक पूरा भारत स्वच्छ बनाया जाएगा। इन 5 वर्षों के लक्ष्य को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया है। गांधी जी की 150 वी जयंती पर स्वच्छ भारत अभियान सफल रहने का जश्न मनाया गया। इन 5 सालों में लाखों की संख्या में शौचालय का निर्माण सरकार द्वारा करवाया गया।

सफाई कर्मियों को अत्यधिक मात्रा में लगाकर देश के कोने कोने को साफ करवाने मैं सरकार ने अहम कदम उठाए। इतना ही नहीं स्वच्छ भारत अभियान में देश की जनता ने भी कदम से कदम मिलाकर भारत को स्वच्छ बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया।

इस अभियान के जरिए स्कूलों में शिक्षक व छात्र भी स्वच्छ भारत अभियान को लेकर बहुत ज्यादा सक्रिय हुए। शिक्षकों और विद्यार्थि आनंद के साथ इस अभियान में शामिल होकर अपने आसपास के इलाकों को स्वच्छ रखने और स्वच्छता के नारे लगाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इसके अलावा देश भर में अलग-अलग जगहों पर रैलिया निकालकर लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया।

ताकि हर व्यक्ति अपने आसपास के इलाकों की स्वच्छता रख सके और ऐसे देश को स्वच्छ करना आसान हो जाएगा। उसके पश्चात इस अभियान के अंतर्गत मार्च 2017 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने राज्य मैं पान, गुटखा और तंबाकू पर प्रतिबंध लगाकर इस अभियान में महत्वपूर्ण योगदान दिया। साल 2019 में राजस्थान कि गहलोत सरकार ने भी तंबाकू पर प्रतिबंध लगा दिया।

क्या है स्वच्छ भारत अभियान (Clean India Mission)

यह अभियान भारत का सबसे बड़ा स्वच्छता अभियान है। इस अभियान की शुरुआत होने के पश्चात यह अभियान धीरे-धीरे लोकप्रिय होता गया और सरकार ने भी इस अभियान को लोकप्रिय करने के लिए कई अलग-अलग कदम उठाएं।

इस अभियान के प्रति देश की जनता को जागरूक करना सरकार का मुख्य उद्देश्य था और इसीलिए सरकार ने हर इलाकों में स्वच्छता और स्वच्छ भारत अभियान के नारे व रैलियां शुरू कर दी। इस अभियान की शुरुआत में करीब तीन मिलीयन सरकारी कर्मचारी और स्कूल कॉलेज के छात्रों ने इस अभियान में भाग लिया। इन सभी कर्मचारियों ने देश की जनता को इस अभियान के प्रति जागरूक करवाया।

स्वच्छ भारत अभियान में प्रत्येक व्यक्ति जो इस अभियान का हिस्सा है। वह आगे 9 लोगों को इस आयोजन में भाग लेने के लिए आमंत्रित करेगा और उनको भी आगे 9 लोगों के लिए कहेगा। ताकि यह नेटवर्क बहुत ही कम समय में अत्यधिक फैल सके।

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य (Clean India Mission)

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई। इस अभियान की शुरुआत 2014 से हुई और इस अभियान का मुख्य उद्देश्य देश को स्वच्छ और सुंदर बनाना है। जब से भारत में स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत हुई है। तब से भारत की स्वच्छता में काफी बदलाव देखने को भी मिला है।

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत करने से पहले भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की स्वच्छता को मध्य नजर रखते हुए इस अभियान को शुरू किया है। ताकि इस अभियान के माध्यम से देश स्वच्छ बन सके और देश में उपलब्ध सारी गंदगी दूर हो सके।

इसीलिए स्वच्छ भारत अभियान किस्मत का मुख्य उद्देश्य देश को स्वच्छ और स्वस्थ बनाना है। साथ ही देश की सभी गंदगी को दूर करना है।

स्वच्छ भारत मिशन के लाभ (Clean India Mission)

– स्वच्छ भारत मिशन के शुरू होने के बाद इस मिशन के कई लाभ सामने आए हैं और इस मिशन से सबसे ज्यादा लाभ देश की जनता को हुआ है।

– स्वच्छ भारत मिशन से देश में स्वच्छता की दर बड़ी है।

– इस मिशन की शुरुआत के बाद देश में बीमारियां भी बहुत कम हुई है।

– स्वच्छ भारत मिशन के तहत भारत सरकार ने घर-घर शौचालय का मुद्दा भी जारी किया था और इसी कारण सभी गरीब परिवारों को मुफ्त में शौचालय मिला।

– स्वच्छ भारत मिशन के तहत देश के सभी गंदे नालों को भी साफ किया गया।

– इस अभियान का नाम देश के सभी नागरिकों को हुआ है स्वच्छता से कई प्रकार की बीमारियां दूर हुई है।

– स्वच्छ भारत अभियान के लिए हजारों कर्मचारियों को लगाया गया था कि भारत में स्वच्छता बनी रहे अतः इन हजारों कर्मचारियों को इस अभियान के तहत रोजगार मिला है।

स्वच्छ भारत मिशन का ग्रामीण लोगों को फायदा (Clean India Mission)

वैसे तो स्वच्छ भारत मिशन पूरे देश में चलाया गया। लेकिन इस मिशन का सबसे ज्यादा फायदा ग्रामीण लोगों को हुआ है।

स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शामिल लोगों को सबसे बड़ा फायदा शौचालय का हुआ है। क्योकि भारत सरकार ने जब से स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की है। तबसे हर घर शौचालय काफी मिशन शुरू किया है और देश के हर घर में शौचालय बनाने का संकल्प भी लिया है।

तो इसलिए इस मिशन के तहत ग्रामीण लोगों को मुफ्त में शौचालय मिल गया और घर-घर शौचालय होने से देश की स्वच्छता में और भी बढ़ोतरी हुई है।

ग्रामीण लोगों को शौचालय निर्माण के पश्चात बहुत अधिक फायदा हुआ है अन्यथा उन्हें शौच के लिए खुले में जाना पड़ता था और खुले में फैल रही गंदगी ग्रामीण लोगों के लिए कई रोग उत्पन्न कर देती थी।

निष्कर्ष

इस अभियान की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई है। यह ध्यान देश के हर कोने में चलाया गया है। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य देश में स्वच्छता को बढ़ावा देना है। और लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करना है। इस अभियान के अंतर्गत महात्मा गांधी की 150वीं जयंती तक भारत को स्वच्छ बनाने और घर-घर शौचालय बनाने का निर्णय लिया गया यह लक्ष्य समय रहते पूरा कर दिया गया। हम सभी को इस अभियान में अपना महत्वपूर्ण योगदान देना चाहिए। ताकि देश को स्वच्छ बनाने में हम भी अपनी सहायता दे सकें। देश को स्वच्छ बनाना हम सभी का कर्तव्य है।

- Advertisement -

Most Popular

Essay on Indian army In Hindi | भारतीय सेना पर निबंध हिंदी में

Essay on Indian Army in Hindi में आज हम आपको Indian Army के विषय में essay on Indian Army life in Hindi, History of...

Essay On Cancer in Hindi | कैंसर पर निबंध हिंदी में

आज के इस लेख में हम कैंसर पर निबंध (Essay on Cancer in Hindi) लेकर आए हैं। इस निबंध का उपयोग कक्षा 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10 11...

Essay On Importance Of Hard Work in Hindi | परिश्रम का महत्व पर निबंध हिंदी में

Essay On Importance Of Hard Work in Hindi: परिश्रम का महत्व हमारे जीवन मे कितना अधिक है यह हम सब भलीभांति जानते हैं, खासकर...

Essay on Hindi Diwas in Hindi | हिंदी दिवस पर निबंध हिंदी में

Essay on Hindi Diwas in Hindi: हिंदी भाषा का प्रभाव दुनियाँ में तेजी से बढ़ रहा है। इसकी एक वजह हिंदी भाषा का जमकर...

Recent Comments